चीन बोला मोदी को रोकना हमारे बस की बात नहीं

ब्रह्मपुत्र नदी पर देश का सबसे लंबा पुल तैयार

 

बता दें कि असम में अरुणाचल सीमा के पास ब्रह्मपुत्र नदी पर अपने देश का सबसे लंबा ब्रिज बनकर तैयार है। मूल रूप से ब्रह्मपुत्र की सहायक लोहित नदी पर बने इस ढोला-सदिया ब्रिज की कुल लंबाई की बात करें तो यह 9.15 किमी है। यह पुल शुरू हो जाने से असम और अरुणाचल प्रदेश के बीच सड़क संपर्क स्थापित हो जाएगा। खास बात यह है कि यह ब्रिज सामरिक रूप से भी काफ़ी अहम होगा। भारत के इस अहम प्रोजेक्ट के शुरू होने के बाद चीन को करारा झटका लगा है ।

 

इसके जरिए चीन से लगी एलएसी पर सैन्य साजो सामान आसानी से पहुंचाया जा सकेगा। ब्रिज को इस तरह बनाया गया है कि इस पर से टी-72 टैंक भी गुजर सकेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 24 मई को देश के सबसे लंबे पुल का उद्घाटन करेंगे। 938 करोड़ रुपए, सात साल लगे 938 करोड़ रुपए की लागत वाला यह प्रोजेक्ट 2010 में शुरू हुआ था। इस तरह इसे बनने में सात साल लगे , लेकिन इस प्रोजेक्ट का काम UPA सरकार द्वारा शुरू करवाने के बावजूद बेहद धीमी गति से चल रहा था , मोदी सरकार ने आते ही इसमें ज़बरदस्त तेज़ी से काम शुरू करवाया और तय सीमा से पहले इसे पूरा कर लिया । असल बात ये है कि सरकारें काम शुरू तो करवाती हैं पर उसे पूरा ही नहीं करवाती , जब पूरा ही ना हो या काम ही रुक जाए तो केवल रिबन काटने के लिए घोषणाएँ करने का फ़ायदा नहीं नुक़सान ही होता है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *